पायरिया का घरेलू इलाज

पायरिया का घरेलू इलाज

दांत मसूढ़ों की प्रतिदिन ठीक से सफाई न करना, शरीर में केल्शियम की कमी होना, पेट का निरन्तर खराब रहना, कब्ज रहना आदि कारणों से मसूढ़े खराब और कमजोर हो जाते हैं जिससे उनसे खून निकलने लगता है और बाद में पस पड़ जाता है, मुंह से बहुत बुरी दुर्गन्ध आती है और दांत कमजोर हो जाते हैं। इस रोग को पायरिया (झूीिीहशिर) कहते हैं। इस रोग को दूर करने के लिए प्रस्तुत किये जा रहे नुस्खे का प्रयोग करें।

नुस्खा-

नीम की पत्तियां साफ करके छाया में रख कर सुखाएं। जब पत्तियां अच्छी तरह सूख जाएं तब एक बर्तन में रख कर जला दें और तुरन्त ढक दें। पत्ते जल कर काले हो जाएंगे और इसकी राख काली होगी। ठण्डा होने पर इसे पीस कर कपड़ छन करके छान लें। जितनी राख हो उसके वजन से दुगने वजन में, पिसा हुआ सेन्धा नमक मिला कर, अच्छी तरह मिला कर शीशी में भर लें। इस चूर्ण को दिन में 3-4 बार मसूढ़ों पर लगा कर 15-20 मिनिट बाद कुल्ला करके मुंह साफ कर लें। भोजन या कुछ खाने के बाद दांत कुरेदनी (टूथ पिक) से दांतों को साफ करके खूब कुल्ले किया करें। रात को सोने से पहले मल विसर्जन के लिए शौचालय में बैठा करें। कब्ज को दूर करें और आहार में नींबू, सन्तरे, आंवला और शहद का सेवन करें। सोते समय कुनकुना गरम दूध अवश्य पिया करें। गुरुकुल कांगड़ी फार्मेसी का बना “पायोकिल’ भी पायरिया रोग न करने के लिए अति उत्तम औषधि है। यह औषधि आयुर्वेदिक दवा विक्रेता की दुकान पर मिलती है।

 

Header Image

Related posts

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *