मैग्नीशियम की कमी को पहचानें

मैग्नीशियम की कमी को पहचानें

  1. 1 नस चढ़नाd*
    मैग्नीशियम की कमी का सबसे साफ संकेत है #नसों का चढ़ना, टांग या पैरों की पिंडलियों में मरोड़े पड़ना. मैग्नीशियम की #कमी से नसें सख्त होने लगती हैं और मांसपेशियों को पर्याप्त #पोषण नहीं मिल पाता है. इसकी का नतीजा है कि नसें चढ़ने लगती हैं.
  2. नींद में बाधा*
    मैग्नीशियम की कमी होने से अच्छी नींद भी नहीं आती. मैग्नीशियम शरीर और #मस्तिष्क को आराम देने में बड़ी भूमिका निभाता है, इसकी कमी होते ही नींद डिस्टर्ब होने लगती है.
  3. हमेशा थकान रहना*
    मैग्नीशियम के बिना कोशिकाओं को #एटीपी (एडेनोसिन ट्राइफॉस्फेट) ऊर्जा नहीं मिल पाती. आसान शब्दों में कहें तो मैग्नीशियम के बिना #कोशिकाएं भूखी रह जाती हैं. इसी वजह से थकान, #ऊर्जा का स्तर कम रहना और दूसरी समस्याएं सामने आती हैं.
  4. हड्डी संबंधी रोग*
    धूप से इंसान को #विटामिन _डी मिलता है, लेकिन मैग्नीशियम के बिना कोशिकाएं विटामिन डी को नहीं सोख सकतीं. इस पूरी प्रक्रिया का असर हड्डियों पर भी पड़ता है.
  5. ब्लड_प्रेशर*
    70,000 लोगों पर #रिसर्च करने के बाद हार्वर्ड यूनिवसिर्टी के वैज्ञानिकों ने दावा किया कि जिन लोगों के शरीर में मैग्नीशियम की ज्यादा मात्रा होती है, उनका ब्लड प्रेशर काफी नॉर्मल रहता है. मैग्नीशियम #बीपी कंट्रोल करने में मदद करता है.
  6. कई फायदे*
    शरीर में मैग्नीशियम के संतुलित स्तर से #हार्ट अटैक, #गठिया और #किडनी स्टोन का खतरा भी कम हो जाता है. गर्भावस्था में भी मैग्नीशियम कई शारीरिक परेशानियों से बचाता है.
  7. कैसे मिलता हैं मैग्नीशियम*
     #दही, #दूध, #बादाम, #केले और #कद्दू के बीजों में काफी मैग्नीशियम होता है. इसीलिए जरूरी है कि इन चीजों को नियमित आहार में शामिल करें
    *दर्द से राहत दिलाने वाला तेल*
    *स्वस्थ भारत की और छोटा सा कदम…….. ** की कोशिश आपके घर में बीमारी के कारण कोई भी दुखी न हो और*** *प्रत्यके भाई ओर बहन के चहरे पे ख़ुशी के लिये करीब 1500 ग्रुप के द्वारा 100000 लोगो तक यह टिप्स भेज कर आपकी बीमारी को जड़ सर खत्म करने की कोशिश कर रहे है* और आप से निवेदन है कि आप लोग कम से कम 5 ग्रुप मैं भेज दे
    सामग्री :-
    50 ग्राम सरसों का तेल
    50 ग्राम सफेद तिल का तेल
    15 लौंग
    1 टुकडा दालचीनी
    2 टेबल स्पून अजवायन
    1 टेबल स्पून मेथी दाना
    15 लहसुन की कली बारिक कटी हुई
    1 छोटा टुकडा अदरक पिसा हुआ
    1 टी स्पून हल्दी
    2 बडे पीस कपूर
    1 टेबल स्पून एलोवेरा जैल
    विधि :-
    कढाई मे दोनो तेल डाल कर तेज गैस पर गर्म करो फिर गैस को धीमी करके हल्दी और कपूर को छोड कर  सारी चीजो को डाल दो , जब तक सारी चीजे जल न जाए और उन का सत तेल मे ना आ जाऐ , करीब 20-25 मिन्ट लगेंगे इन्हें जलने मे जब ये भून जाएगें तब तेल का रंग गहरा हो जाएगा फिर गैस बंद कर दे और उसमे हल्दी ,कपूर मिला दे जब तक कपूर घुल ना जाए तब तक तेल को ठंडा होने दे फिर तेल को छान कर एक शीशी मे भर कर रखो , कैसा भी बुरा  दर्द हो  इससे मालिश से गायब हो जाएगा।

    कृपया,कोई भी पेन किलर ना खाऐ तबियत खराब हो जाएगी चिकन गुनिया, गठिया, जॉइंट्स पैन  मे  ये तेल बहुत असरदार है बनाकर मालिश करके देखे जिन्हे तकलीफ हो  चिकनगुनिया मे पैरो मे और जोइंट पेन ज्यादा होता है यह तेल 100% फायदेमंद है लगाते ही आराम आना शुरू हो जाएगा, पहले दिन से . दिन मे 3 बार मालिश करें |
Header Image

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *